मंगलवार, 1 मई 2007

हैरानी मे भी


Aishwarya17, originally uploaded by Tilak Haria.

मै सच कहता हूँ
तुमसा सुंदर
कोई नही जग में
तेरी उपमा बने
सितारा
कोई नहीं नभ में

सच्ची बताऊ
हैरानी की
बात नही कोई
हैरानी मे भी
तुमसा सुंदर
और नही कोई

झील के जैसी
आँखों का
जाम हो जाता है
तुम जो भी
करती हो उसका
नाम हो जाता है

तुषार जोशी, नागपुर

2 टिप्‍पणियां:

  1. सादगी से बात कहने के आपके तरीका का मैं कायल हूँ..

    *** राजीव रंजन प्रसाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. "लिखने के लिये शब्द खोजने का प्रयास व्यर्थ है, जो भाव मन में उठ्ते हैं बह जाने तो, शब्द स्वत: ही मूल्यवान हो जायेंगे" - कुछ ऐसा ही सिद्ध कर रहें है आप।

    बधाई!

    उत्तर देंहटाएं